IMPS Vs RTGS Vs NEFT: इन ऑनलाइन फंड ट्रांसफर और न्यूनतम ट्रांजैक्शन राशि में क्या अंतर है?

By Satish Kumar

IMPS Vs RTGS Vs NEFT

जुलाई 2019 से, RBI ने देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से NEFT और RTGS के माध्यम से लेनदेन पर शुल्क लगाना बंद कर दिया है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार (8 अक्टूबर, 2021) को घोषणा की कि वह तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) दैनिक लेनदेन की सीमा को 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर रहा है।

आईएमपीएस (IMPS) क्या है?

तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) एक अभिनव रीयल टाइम भुगतान सेवा है जो चौबीसों घंटे उपलब्ध है। यह सेवा नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा दी जाती है जो ग्राहकों को पूरे भारत में बैंकों और आरबीआई (RBI) द्वारा अधिकृत प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट इश्यूअर्स (पीपीआई) के माध्यम से तुरंत पैसा ट्रांसफर करने का अधिकार देती है। आईएमपीएस (IMPS) मोबाइल फोन, स्मार्टफोन-बैंक ऐप/एसएमएस/डब्ल्यूएपी/यूएसएसडी (NUUP), बेसिक फोन-एसएमएस/यूएसएसडी (NUUP), इंटरनेट-बैंक की इंटरनेट बैंकिंग सुविधा और एटीएम जैसे विभिन्न चैनलों के माध्यम से 24×7 तत्काल घरेलू फंड ट्रांसफर सुविधा प्रदान करता है।

आरटीजीएस (RTGS) क्या है?

आरटीजीएस (RTGS) एक वित्तीय लेनदेन प्रणाली है, जहां transactions के आधार पर फंड ट्रांसफर का निरंतर और वास्तविक समय में एक-एक transactions का निपटान होता है। RTGS लेनदेन या स्थानान्तरण की कोई राशि सीमा नहीं है।

आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से प्रेषित की जाने वाली न्यूनतम राशि क्या है?

आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से प्रेषित की जाने वाली न्यूनतम राशि 2 लाख रुपये है जिसमें कोई ऊपरी या अधिकतम सीमा नहीं है।

एनईएफटी (NEFT) क्या है?

एनईएफटी एक राष्ट्रव्यापी भुगतान प्रणाली है जो one to one धन हस्तांतरण की सुविधा प्रदान करती है। इस योजना के तहत, व्यक्ति, फर्म और कॉरपोरेट किसी भी बैंक शाखा से किसी भी व्यक्ति, फर्म या कॉर्पोरेट को इलेक्ट्रॉनिक रूप से धन हस्तांतरित (Fund Transfer) कर सकते हैं, जिसका देश में किसी अन्य बैंक शाखा में खाता है जो योजना में भाग ले रहा है।

एनईएफटी के माध्यम से प्रेषित की जाने वाली न्यूनतम राशि क्या है?

हालांकि एनईएफटी (NEFT) प्रणाली के माध्यम से धन हस्तांतरण (Fund Transfer) के लिए आरबीआई (RBI) के द्वारा कोई सीमा नहीं लगाई गई है, कुछ बैंक अपने बोर्ड के अनुमोदन से अपनी जोखिम धारणा (risk perception) के आधार पर राशि सीमा निर्धारित कर सकते हैं।

अन्य’ देखें :-

UPI Full Form | Why You Must Experience UPI ?

SBI PO प्रारंभिक परीक्षा परिणाम 2021: sbi.co.in पर घोषित – SBI PO परिणाम की जांच कैसे करें, direct लिंक